Posted in Do You Know, English, Idols, Story, Vocabulary, World

Pin Drop

Can you hear a pin drop?
What is the meaning of pin drop silence?
Following are some instances when silence could speak louder than voice. 
Take 1:
Robert Whiting, 

an elderly US gentleman of 83, arrived in Paris by plane. 
At French Customs, he took a few minutes to locate his passport in his carry on.
“You have been to France before, Monsieur ?”, the Customs officer asked sarcastically.
Mr. Whiting admitted that he had been to France previously.
“Then you should know enough to have your passport ready.” 
The American said, 

“The last time I was here, 

I didn’t have to show it.”
“Impossible.  

Americans always have to show their passports on arrival in France !”, the Customs officer sneered.
The American senior gave the Frenchman a long, hard look. 
Then he quietly explained 
“Well, when I came ashore at Omaha Beach, 

at 4:40am, on D-Day in 1944, to help liberate your country, I couldn’t find a single Frenchman to show a passport to…. ” 
You could have heard a pin drop

Take 2:
Soon after getting freedom from British rule in 1947, the de-facto prime minister of India, Jawahar Lal Nehru called a meeting of senior Army Officers to select the first General of the Indian army.
Nehru proposed, “I think we should appoint a British officer as a General of The Indian Army, as we don’t have enough experience to lead the same.”

Having learned under the British, only to serve and rarely to lead, all the civilians and men in uniform present nodded their heads in agreement.
However one senior officer, Nathu Singh Rathore, asked for permission to speak.
Nehru was a bit taken aback by the independent streak of the officer, though, he asked him to speak freely.
Rathore said, “You see, sir, we don’t have enough experience to lead a nation too, so shouldn’t we appoint a British person as the first Prime Minister of India?”
You could hear a pin drop.

After a pregnant pause, Nehru asked Rathore,

“Are you ready to be the first General of The Indian Army?”..
Rathore declined the offer saying “Sir, we have a very talented army officer, my senior, Gen. Cariappa, who is the most deserving among us.”
This is how the brilliant Gen. Cariappa became the first General and Rathore the first ever Lt. General of the Indian Army.
(Many thanks to Lt. Gen Niranjan Malik PVSM (Retd) for this article.)

Worth reading?!

Posted in Amazing Facts, Biology, Do You Know, Science

Medical Fitness

PREVENTION IS BETTER THAN CURE
           *BLOOD PRESSURE*

          ———-

120/80 — Normal

130/85 –Normal (Control)

140/90 — High

150/95 — V.High

—————————-
           *PULSE*

          ——–

72 per minute (standard)

60 — 80 p.m. (Normal)

40 — 180 p.m.(abnormal)

—————————-
          *TEMPERATURE*

          —————–

98.4 F (Normal)

99.0 F Above (Fever)

*BLOOD GROUP COMPATIBILITY*
What’s Your Type and how common is it?
*O+* 1 in 3 37.4%

(Most common)
*A+* 1 in 3 35.7%
*B+* 1 in 12 8.5%
*AB+* 1 in 29 3.4%
*O-* 1 in 15 6.6%
*A-* 1 in 16 6.3%
*B-* 1 in 67 1.5%
*AB-* 1 in 167 .6%

(Rarest)

*Compatible Blood Types*
O- can receive *O-*
O+ can receive *O+, O-*
A- can receive *A-, O-*
A+ can receive *A+, A-, O+, O-*
B- can receive *B-, O-*
B+ can receive *B+, B-, O+, O-*
AB- can receive *AB-, B-, A-, O-*
AB+ can receive *AB+, AB-, B+, B-, A+, A-, O+, O-*
This is an important information which can save a life! A life could be saved…

What is ur blood group ?

सेकंड ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा 2016

*अजमेर, सेकंड ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा 2016,परीक्षा कार्यक्रम में बड़ा बदलाव,सभी विषयों के पेपर होंगे ऑनलाइन,जून में आयोजित होगी परीक्षा*

राजस्थान

*आना कभी मेरे देश मै आपको राजस्थान दिखाती हूँ*
आँखों के दरमियान मैं

गुलिस्तां दिखाती हुँ,

आना कभी मेरे देश मैं आपको राजस्थान

दिखाती हूँ।

खेजड़ी के साखो पर लटके फूलो की कीमत

बताती हूँ।

मै साम्भर की झील से देखना कैसे नमक

उठाती हूँ।

मै शेखावाटी के रंगो से

पनपी चित्रकला दिखाती हूँ।

महाराणा प्रताप के शौर्य

की गाथा सुनाती हूँ।

पद्मावती और हाड़ी रानी का जोहर

बताती हूँ।

पग गुँघरु बाँध मीरा का मनोहर

दिखाती हूँ।

सोने सी माटी मे पानी का अरमान

बताती हूँ।

आना कभी मेरे देश मै आपको राजस्थान

दिखाती हूँ।

हिरन की पुतली मे चाँद के दर्शन कराती हूँ।

चंदरबरदाई के

शब्दों की व्याख्या सुनाती हूँ।

मीठी बोली, मीठे पानी मे जोधपुर की सैर

कराती हूँ।

कोटा, बूंदी, बीकानेर और हाड़ोती की मै

मल्हार गाती हूँ।

पुष्कर तीर्थ कर के मै चिश्ती को चाद्दर

चढ़ाती हूँ।

जयपुर के हवामहल में गीत मोहब्बत के गाती हूँ।

जीते सी इस धरती पर स्वर्ग का मैं वरदान

दिखाती हूँ।

आना कभी मेरे देश मै आपको राजस्थान

दिखाती हूँ।

कोठिया दिखाती हूँ, राज

हवेली दिखाती हूँ।

नज़रे ठहर न जाए कही मै आपको कुम्भलगढ़

दिखाती हूँ।

घूंघट में जीती मर्यादा और गंगानगर

का मतलब समझाती हूँ।

तनोट माता के मंदिर से मै विश्व

शांति की बात सुनाती हूँ।

राजिया के दोहो से लेके, जाम्भोजी के

उसूल पढ़ाती हूँ।

होठो पे मुस्कान लिए, मुछो पे ताव देते

राजपूत की परिभाषा बताती हूँ।

सिक्खो की बस्ती मे, पूजा के बाद अज़ान

सुनाती हूँ।

आना कभी मेरे देश मै आपको राजस्थान

दिखाती हूँ।

*जय जय राजस्थान*
*राजस्थान दिवस की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं*

Posted in Indian Economy, Social Science

 मुद्रा एवं बैंकिंग से जुड़े अहम तथ्य 

****1. भारत का सबसे बड़ा व्यापारिक बैंक है

►– स्टेट बैंक ऑफ इंडिया

2. ‘इम्पीरियल बैंक’ पहले का नाम है

►– स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का ।

3. पूर्ण रूप से पहला भारतीय बैंक है

►– पंजाब नेशनल बैंक ।

4. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया का राष्ट्रीयकरण हुआ

►– 1 जनवरी, 1949 ई. में ।

5. भारत का केंद्रीय बैंक है

►– रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI)

6. भारत में राष्ट्रीयकृत बैंकों की कुल संख्या है ?

►– 19

7. एक्सिस बैंक लि. (UTI) का पंजीकृत कार्यालय है

►– अहमदाबाद में ।

8. भारत में औद्योगिक वित्त की शिखर संस्था है

►– भारतीय औद्योगिक विकास बैंक (IDBI)

9. बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (IRDA)

विधेयक पारित हुआ

►– दिसंबर, 1999 ई. में ।

10. भारत में कुल मान्यता प्राप्त स्टॉक एक्सचेंज हैं

►– 24

11. वह दर, जिस पर वाणिज्यिक बैंक RBI से

अल्पकालीन ऋण प्राप्त करते हैं, कहलाता है

►– रेपो दर ।

12. अल्पकालिक साख एवं दीर्घकालिन साख उपलब्ध

कराने वाला संगठन है

►– क्रमश: मुद्रा बाजार एवं पूंजी बाजार ।

13. भारत में अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों की सबसे

अधिक शाखाएं हैं

►– उत्तर प्रदेश में ।

14. बैंकों में ग्राहक सेवा सुधारने के लिए सुझाव देने

वाली समिति है

►– गोइपोरिया समिति ।

15. शेयर घोटाला की जांच के लिए गठित समिति

थी

►– जानकीरमन समिति ।

for such information click here & Like our page
16. भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (SEBI)

की स्थापना हुई

►– अप्रैल, 1988 ई. में ।

17. ‘BSE-200’ शेयर मूल्य सूचकांक है

►– मुंबई (भारत) का ।

18. HDFC बैंक तथा IDBI बैंक का मुख्यालय है

►– क्रमश: मुंबई और इंदौर ।

19. ICICI बैंक तथा भारतीय रिजर्व बैंक का

मुख्यालय स्थित है

►– क्रमश: बड़ौदा तथा मुंबई में ।

20. ‘भारतीय पर्यटन वित्त निगम’ की

स्थापना की गई थी

►– 1989 ई. में ।

21. सहकारिता को सरकारी नियंत्रण से मुक्त करने

वाला भारत का राज्य है

►– आंध्र प्रदेश

22. भारत की सबसे बड़ी म्यूचल फंड

संस्था है

►– भारतीय यूनियन ट्रस्ट (UTI)

23. विनिवेश कमीशन (स्थापना-1996 ई.) के प्रथम

अध्यक्ष थे

►– जी वी रामकृष्णन ।

24. भारत में मनीऑर्डर प्रणाली

की शुरुआत की गई

►– 1980 ई. में ।

25. भारतीय रुपयों का अब तक अवमूल्यन हो चुका

है

►– तीन बार (1949, 1966 एवं 1991 ई. में )

26. एक रुपए का नोट तथा सिक्के का निर्गमन करता है

►– वित्त मंत्रालय (भारत सरकार )

27. करेंसी नोटों (5, 10, 20, 50, 100, 500 तथा

1000 रु.) का निर्गमन करता है

►– भारतीय रिजर्व बैंक (RBI)

28. 20 रु., 100 रु., तथा 500 रु. के नोट छपते हैं

►– बैंक नोट प्रेस देवास में ।

29. 10 रु., 50रु., 100 रु., 500 रु., तथा 1000 रु. के नोट

छपते हैं

►– करेंसी नोट प्रेस नासिक में ।

30. भारत में सिक्का उत्पादन होता है

►– टकसाल में ।

31. ‘नास्डैक’ है

►– अमेरिकी शेयर बाजार ।

32. भारत का पहला मोबाइल बैंक (लक्ष्मी

वाहिनी बैंक) स्थित है

– खरगोन (मध्यप्रदेश) में ।

33. भारत में पहला तैरता हुआ ATM कोच्ची में खोला

गया है

– स्टेट बैंक ऑफ इंडिया द्वारा ।

34. राष्ट्रीय स्टॉक एक्सचेंज(NIFTI)

की स्थापना की संस्तुति 1991 ई. में

की थी

►– ‘फेरवानी समिति’ ।

35. शेयर होल्डरों के स्टॉक पर हुई कमाई को कहते हैं

►– लाभांश ।

36. ‘बैंको का बैंक’ कहा जाता है

►– रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) को ।

37. मुद्रा स्फीति में सबसे अधिक लाभ होता है

►– लेनदान को ।

38. भारत में शेयर बाजार का मुख्य नियंत्रक है

►– SEBI (सेबी)

39. भारतीय यूनियन ट्रस्ट (UTI) का 30 जुलाई

2007 से नाम बदलकर रखा गया है

►– एक्सिस बैंक लिमिटेड ।

40. भारत सरकार ने सबसे पहले 14 बड़े व्यापारिका बैंकों का

राष्ट्रीयकरण किया

►– 18 जुलाई 1969 ई. ।

41. सरकार ने पुन: 6 बड़े व्यापारिक बैंकों का

राष्ट्रीयकरण किया

►– 15 अप्रैल 1980 ई. को ।

42. ‘न्यू बैंक ऑफ इंडिया’ का पंजाब नेशनल बैंक का विलय हुआ

►– 4 सितंबर 1993 ई. को ।

43. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में मुद्रा विनिमय दर निश्चित

की जाती है

►– मुद्रा आपूर्ति और मांग द्वारा ।

44. भारत में सबसे पहले पत्र-मु्द्रा का चलन हुआ था

►– 1806 ई. में ।

45. भारत के सार्वजनिक ऋण प्रचालनों को संचालित करता है

►– RBI

46. अर्थशास्त्र में निवेश का मतलब क्या है

►– शेयरों की खरीदारी ।

47. ऐसा ऋण जो बट्टे पर दिया जाता है और सममूल्य पर

प्रतिदेय हो, कहलाता है

►– शून्य कूपन बॉण्ड ।

48. भारत में अपनी शाखा खोलने वाला पहला

रूसी बैंक है

►– इन्कम बैंक ऑफ रसिया ।

49. न्यूयार्क में स्थित सटॉक एक्सचेंज का नाम है

►– वॉल स्ट्रीट ।

50. विश्व बैंक की आसान ऋण प्रदाता संस्था है

►– इंटरनेशनल डेवलपमेंट एसोसिएशन ।

51. 10 रु. के नोट पर हस्ताक्षर होता है

►– RBI के गवर्नर का

Posted in हिन्दी साहित्य, CBSE, RBSE Ajmer, Story

व्यंग्य – देवलोक में डी ग्रेड 

सब आदमियों के पाप-पुण्य कर्मो का हिसाब लिखकर चित्रगुप्त ऑफिस का काम निपटा के मजे से घर पर सोया था कि उसके पास whatsapp पर सूचना आयी । 

इंद्रसभा के बजटसत्र में किसी देवता ने कोई प्रश्न पूछ लिया था और उसका जवाब तैयार करना था । आनन फानन में यमराज ने बुलवा लिया । यमराज खुद भी सकपकाये हुए थे, बोले,” यार चित्रगुप्त, नौकरी करना आजकल कठिन हो गया । ये whatsapp भी जी का जंजाल है, ये देवता लोगों को और कोई तो काम है, कोई न कोई आदेश भेजते रहते है और चैन नही लेने देते ।”

चित्रगुप्त बोले- सही कहा सर, पहले सरल था, मेरे पास एक पोथा था उसमें सब कुछ लिख लेता था, अब तो शिक्षा विभाग की तरह कभी वैकुण्ड लोक से कोई सूचना मांगी जाती है, कभी शिवलोक वाले कोई आंकड़ा पूछ लेते है, परेशान करके रख दिया है । जो आत्माएं यमलोक में आ रही है उसमें से sc कितने, st कितने, gen कितने, obc कितने, पुरुष कितने, महिलाये कितनी, यानी b, g, t छांटो । फिर age के हिसाब से छांटो । नारद ऋषि ने कहा है कि सारी आत्माओं का डाटा यमदर्शन और यमदर्पण पर upload और करवाओ…मन तो करता है रिजाइन कर दूँ ।” 

यमराज भी भावुक हो उठे, बोले- चित्रगुप्त नौकरी तो मैं भी छोड़ दूँ पर फिर मुझे मेरे बच्चों का ख्याल आता है, क्या खायेंगे, बेरोजगारी ज्यादा है, प्राइवेट नौकरी में कुछ रखा नही वरना राहुकेतु एंड कंपनी तो मुझे नियुक्ति देने को तैयार है, खैर छोड़ो, वो यमलोक के फोटो खींचकर साइट पर डलवा देना नही तो ब्रह्मलोक से स्पष्टीकरण आएगा । और बताओ पृथ्वी लोक के क्या हाल है?

चित्रगुप्त अब थोड़े मुस्कुराए, बोले- सर जो आत्माएं ताजा ताजा पृथ्वी से आ रही है वो अपडेट दे रही है कि पृथ्वी पर योगियों का राज हो गया है । नोटबन्दी के बाद काला धन तो खत्म हो ही गया था already, इसलिये सब कुशल मंगल है पृथ्वीलोक पर लेकिन स्वर्ग लोक में हड़कम्प मचा हुआ है ।

यमराज थोड़े टेंशन में आये- क्यों चित्रगुप्त? ऐसा क्या हुआ?

चित्रगुप्त ने यमलोक का पंखा थोड़ा तेज किया और बोले- “सर आपको तो पता ही है, स्वर्ग लोक में ग्रेडिंग सिस्टम लग गया है।

शिवपुत्र बाल गणेशा कि तो A ग्रेड आयी है लेकिन इंद्र के पुत्र जयंत और चंद्रदेव के पुत्र बुध, सूर्यपुत्र शनि आदि सभी बालकों की D ग्रेड आयी है । result खराब होने के कारण गुरु बृहस्पति के नाम नोटिस निकला है ।”

यमराज बोले – इस समस्या का क्या हल है चित्रगुप्त? 

चित्रगुप्त बोले-धर्मराज सर, रिटायरमेंट से पहले ही पृथ्वीलोक पर अभी 2 मास्टरों का देहांत हुआ है । उनकी आत्माओं को बुलाया है, दोनों हेडमास्टर थे लेकिन रिसल्ट 100% दिया हमेशा, मैंने दोनों को स्वर्ग के सरकारी स्कूल में कुछ दिन डेपुटेशन लगवाया था, अभी दोनों आते होंगे । 

The Academic Partner Bali
तभी पायजामा कुर्ते और गमछे चश्मे में दुबले पतले दो लोग आ पहुँचे । उनकी पूरी जिंदगी डाके बनाने में गुजरी थी, कार्बन कॉपी में हेडमास्टर की सील लगाकर तथ्यात्मक रिपोर्ट बनाकर लाये थे । 

उनमे से एक हेडमास्टर बोला- यहाँ भी वहीँ हाल है जो पृथ्वी लोक पर है । साल के बारह महीने दिन के चौबीस घण्टे पढाई से अलग वाले ही काम है, । यहाँ अग्नि देव पोषाहार प्रभारी है क्योंकि खाना उन्ही पर बनता है । वरुण देव स्वच्छता प्रभारी है, पानी की जरूरत पड़ती है, बृहस्पति जी हेडमास्टर की तरह डाके बनाने में बिजी रहते है, वायुदेव बीएलओ की तरह पूरे सातों लोकों में घुमते रहते है, कुबेर के पास कैशबुक का चार्ज है और वो लेनदेन में बिजी रहते है और बैंक के चक्कर काटते डोलते है । देवी सरस्वती पुस्तकालय प्रभारी है । चंद्रदेव मेहनती अध्यापक है लेकिन उनको प्रशिक्षणों में बुलवा लेते है तो वो महीने में 15 दिन दिखते नही…..”

यमराज और चित्रगुप्त दोनों एक साथ बोले- लेकिन पृथ्वी लोक पर तो तुम दोनों की तो हमेशा c ग्रेड आयी है । इतने कामों के बावजूद तो यहाँ भी वहीँ आईडिया बताओ न …

एक हेडमास्टर बोले- ,”अब यहाँ भी किसी की डी ग्रेड नही आएगी, हमने एक whatsapp ग्रुप बनाया है जिसका नाम है, “नोडल केंद्र देवलोक” उसमें सारे देव टीचर add कर लिए है और मैसेज वायरल कर दिया है कि तुम लोगों को पढ़ाने को तो मिलना नही । स्पष्टीकरण/नोटिस से बचना है तो ठीक ठीक नम्बर देना अपने अपने विषय में । ”

(अबकी बार किसी की डी नही आयी और ब्रह्मा विष्णु महेश भी सोच में पड़ गए है )

Posted in CBSE, Class 10, Education System, National, RBSE Ajmer

नई शिक्षा नीति 2017- 2018का इनपुट ड्राफ्ट

*बड़ी खबर: शिक्षा नीति 2017-18 लागू होने के बाद, 1st ग्रेड , 2nd ग्रेड के लिए भी टेट में उत्तीर्ण होना आवश्यक**बड़ी खबर*

*शिक्षा नीति 2017-18 लागू होने क बाद *1st ग्रेड , 2nd ग्रेड के लिए भी टेट में उत्तीर्ण होना आवश्यक*

🔘: *नई शिक्षा नीति 2017- 2018का इनपुट ड्राफ्ट*

🔰🔰🔰🔰🔰🔰🔰🔰

***********************

*1-आंगनबाड़ी को प्री-प्राइमरी स्कूल में बदला जायेगा। राज्य एक साल के भीतर कोर्स बनायेंगे तथा शिक्षकों का अलग कैडर बनायेंगे।*

*2-सभी प्राइमरी स्कूल प्री-प्राइमरी स्कूल से सुसज्जित होंगे। आगनबाड़ी केंद्रों को स्कूल कैम्पस में स्थापित किया जायेगा।*

*3-अधिगम सुनिश्चित किया जायेगा।*

*4-नो डिटेंशन अब कक्षा 05 तक होगा।*

*5-RTE को 12 वीं तक ले जाया जायेगा।*

*6-विज्ञान, गणित तथा अंग्रेजी का समान राष्ट्रीय पाठ्यक्रम होगा। सामाजिक विज्ञान का एक हिस्सा समान होगा, शेष का निर्माण राज्य करेंगे।*

The Academic Partner Bali

*7-कक्षा 6 से ICT आरंभ होगी।*

*8-कक्षा 6 से विज्ञान सीखने के लिए प्रयोगशाला की सहायता ली जायेगी।*

*9-गणित, विज्ञान तथा अंग्रेजी के कक्षा 10 हेतु दो लेबल होंगे-A तथा B*

*10-कक्षा 10 व 12 में बोर्ड परीक्षा अनिवार्य।*

*11-ICT का शिक्षण तथा अधिगम सुनिश्चित करने हेतु प्रयोग।*

*12-विद्यालय के कार्यों का कम्प्यूटीकरण तथा शिक्षकों-छात्रों की उपस्थिति की ऑनलाइन मॉनिटरिंग।*

*13-राज्यों में शिक्षकों की नियुक्ति के लिये अलग से ‘शिक्षक भर्ती आयोग’। नियुक्ति पारदर्शी तथा मैरिट के आधार पर होगी।*

*14-सभी रिक्त पद भरे जाएं। प्रधानाचार्यों के लिये लीडरशिप ट्रेनिंग अनिवार्य।*

*15-राष्ट्रीय स्तर पर ‘टीचर एजुकेशन विश्वविद्यालय’ की स्थापना।*

*16-राष्ट्रीय पुरस्कारों को राज्य तथा जिला स्तर तक लाया जाये। अनुशंसा में SMC की महत्वपूर्ण भूमिका।*

*17-हर पांच साल में शिक्षकों को एक परीक्षा देनी होगी। इसे उनके प्रमोशन तथा इन्क्रीमेंट से जोड़ा जायेगा।*

*18-अगर राज्य चाहें तो कक्षा 05 तक मातृभाषा, स्थानीय तथा क्षेत्रीय भाषा को पढाई का माध्यम बना सकते हैं।*

*19-GDP का 6% शिक्षा पर खर्च करने के लक्ष्य को पूरा करने की कोशिश हो।*

*20-नयी संस्थाओं को खोलने के बजाय मौजूदा शिक्षण संस्थाओं को मजबूत किया जाये।*

*21-मिड डे मील का दायित्व शिक्षकों के ऊपर से हटाकर महिला स्वयं सहायता समूहों को दिया जायेगा। भोजन बनाने की केंद्रिकत प्रणाली विकसित की जायेगी।

Posted in Indian Constitution

भारतीय संविधान के प्रमुख अनुच्छेद

*अनुच्छेद 1* :- संघ का नाम औ

राज्य क्षेत्र*अनुच्छेद 2* :- नए राज्यों का प्रवेश या स्थापना

*अनुच्छेद 3* :- राज्य का निर्माण तथा सीमाओं या नामों मे

परिवर्तन

*अनुच्छेद 4* :- पहली अनुसूचित व चौथी अनुसूची के संशोधन तथा

दो और तीन के अधिन बनाई गई विधियां

*अच्नुछेद 5* :- संविधान के प्रारं पर नागरिकता

*अनुच्छेद 6* :- भारत आने वाले व्यक्तियों को नागरिकता

*अनुच्छेद 7* :-पाकिस्तान जाने वालों को नागरिकता

*अनुच्छेद 8* :- भारत के बाहर रहने वाले व्यक्तियों का नागरिकता

*अनुच्छेद 9* :- विदेशी राज्य की नागरिकता लेने पर भारत का

नागरिक ना होना

*अनुच्छेद 10* :- नागरिकता क अधिकारों का बना रहना

*

*अनुच्छेद 11* :- संसद द्वारा नागरिकता के लिए कानून का विनियमन

*अनुच्छेद 12* :- राज्य की परिभाषा

*अनुच्छेद 13* :- मूल अधिकारों को असंगत या अल्पीकरण करने वाली विधियां

*अनुच्छेद 14* :- विधि के समक्ष समानता

*अनुच्छेद 15* :- धर्म जाति लिंग पर भेद का प्रतिशेध

*अनुच्छेद 16* :- लोक नियोजन में अवसर की समानता

*अनुच्छेद 17* :- अस्पृश्यता का अंत

*अनुच्छेद 18* :- उपाधीयों का अंत

*अनुच्छेद 19* :- वाक् की स्वतंत्रता

*अनुच्छेद 20* :- अपराधों के दोष सिद्धि के संबंध में संरक्षण

**

*अनुच्छेद 21* :-प्राण और दैहिक स्वतंत्रता

*अनुच्छेद 21 क* :- 6 से 14 वर्ष के बच्चों को शिक्षा का अधिकार

*अनुच्छेद 22* :- कुछ दशाओं में गिरफ्तारी से सरंक्षण

*अनुच्छेद 23* :- मानव के दुर्व्यापार और बाल आश्रम

*अनुच्छेद 24* :- कारखानों में बालक का नियोजन का प्रतिशत

*अनुच्छेद 25* :- धर्म का आचरण और प्रचार की स्वतंत्रता

**

*अनुच्छेद 26* :-धार्मिक कार्यों के प्रबंध की स्वतंत्रता

*अनुच्छेद 29* :- अल्पसंख्यक वर्गों के हितों का संरक्षण

*अनुच्छेद 30* :- शिक्षा संस्थाओं की स्थापना और प्रशासन करने

का अल्पसंख्यक वर्गों का अधिकार

*अनुच्छेद 32* :- अधिकारों को प्रवर्तित कराने के लिए उपचार

*अनुच्छेद 36* :- परिभाषा

*अनुच्छेद 40* :- ग्राम पंचायतों का संगठन

*अनुच्छेद 48* :- कृषि और पशुपालन संगठन

*अनुच्छेद 48क* :- पर्यावरण वन तथा वन्य जीवों की रक्षा

*अनुच्छेद 49:-* राष्ट्रीय स्मारक स्थानों और वस्तुओं का संरक्षण

*अनुछेद. 50* :- कार्यपालिका से न्यायपालिका का प्रथक्करण

*अनुच्छेद 51* :- अंतर्राष्ट्रीय शांति और सुरक्षा

*अनुच्छेद 51क* :- मूल कर्तव्य

*अनुच्छेद 52* :- भारत का राष्ट्रपति

*अनुच्छेद 53* :- संघ की कार्यपालिका शक्ति

*अनुच्छेद 54* :- राष्ट्रपति का निर्वाचन

*अनुच्छेद 55* :- राष्ट्रपति के निर्वाचन की रीती

*अनुच्छेद 56* :- राष्ट्रपति की पदावधि

*अनुच्छेद 57* :- पुनर्निर्वाचन के लिए पात्रता

*अनुच्छेद 58* :- राष्ट्रपति निर्वाचित होने के लिए आहर्ताए

*अनुच्छेद 59* :- राष्ट्रपति पद के लिए शर्ते

*अनुच्छेद 60* :- राष्ट्रपति की शपथ

*अनुच्छेद 61* :- राष्ट्रपति पर महाभियोग चलाने की प्रक्रिया

*अनुच्छेद 62* :- राष्ट्रपति पद पर व्यक्ति को भरने के लिए निर्वाचन का समय और रीतियां

*अनुच्छेद 63* :- भारत का उपराष्ट्रपति

*अनुच्छेद 64* :- उपराष्ट्रपति का राज्यसभा का पदेन सभापति होना

*अनुच्छेद 65* :- राष्ट्रपति के पद की रिक्त पर उप राष्ट्रपति के कार्य

*अनुच्छेद 66* :- उप-राष्ट्रपति का निर्वाचन

*अनुच्छेद 67* :- उपराष्ट्रपति की पदावधि

*अनुच्छेद 68* :- उप राष्ट्रपति के पद की रिक्त पद भरने के लिए निर्वाचन

*अनुच्छेद69* :- उप राष्ट्रपति द्वारा शपथ

**

*अनुच्छेद 70* :- अन्य आकस्मिकता में राष्ट्रपति के कर्तव्यों का निर्वहन

*अनुच्छेद 71*. :- राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के निर्वाचन संबंधित

विषय

*अनुच्छेद 72* :-क्षमादान की शक्ति

*अनुच्छेद 73* :- संघ की कार्यपालिका शक्ति का विस्तार

*अनुच्छेद 74* :- राष्ट्रपति को सलाह देने के लिए मंत्रिपरिषद

*अनुच्छेद 75* :- मंत्रियों के बारे में उपबंध

*अनुच्छेद 76* :- भारत का महान्यायवादी

*अनुच्छेद 77* :- भारत सरकार के कार्य का संचालन

*अनुच्छेद 78* :- राष्ट्रपति को जानकारी देने के प्रधानमंत्री के

कर्तव्य

*अनुच्छेद 79* :- संसद का गठन

*अनुच्छेद 80* :- राज्य सभा की सरंचना

**

*अनुच्छेद 81* :- लोकसभा की संरचना

*अनुच्छेद 83* :- संसद के सदनो की अवधि

*अनुच्छेद 84* :-संसद के सदस्यों के लिए अहर्ता

*अनुच्छेद 85* :- संसद का सत्र सत्रावसान और विघटन

*अनुच्छेद 87* :- राष्ट्रपति का विशेष अभी भाषण

*अनुच्छेद 88* :- सदनों के बारे में मंत्रियों और महानयायवादी

अधिकार

*अनुच्छेद

89* :-राज्यसभा का सभापति और उपसभापति

*अनुच्छेद 90* :- उपसभापति का पद रिक्त होना या पद हटाया

जाना

*अनुच्छेद 91* :-सभापति के कर्तव्यों का पालन और शक्ति

*अनुच्छेद 92* :- सभापति या उपसभापति को पद से हटाने का

संकल्प विचाराधीन हो तब उसका पीठासीन ना होना

*अनुच्छेद 93* :- लोकसभा का अध्यक्ष और उपाध्यक्ष

*अनुचित 94* :- अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का पद रिक्त होना

*अनुच्छेद 95* :- अध्यक्ष में कर्तव्य एवं शक्तियां

*अनुच्छेद 96* :- अध्यक्ष उपाध्यक्ष को पद से हटाने का संकल्प हो तब

उसका पीठासीन ना होना

*अनुच्छेद 97* :- सभापति उपसभापति तथा अध्यक्ष,उपाध्यक्ष के

वेतन और भत्ते

*अनुच्छेद 98* :- संसद का सविचालय

*अनुच्छेद 99* :- सदस्य द्वारा शपथ या प्रतिज्ञान

*अनुच्छेद 100* – संसाधनों में मतदान रिक्तियां के होते हुए भी

सदनों के कार्य करने की शक्ति और गणपूर्ति

*अनुच्छेद 108* :- कुछ दशाओं में दोनों सदनों की संयुक्त बैठक

*अनुत्छेद 109* :- धन विधेयक के संबंध में विशेष प्रक्रिया

*अनुच्छेद 110* :- धन विधायक की परिभाषा

*अनुच्छेद 111* :- विधेयकों पर अनुमति

*अनुच्छेद 112* :- वार्षिक वित्तीय विवरण

*अनुच्छेद 118* :- प्रक्रिया के नियम

*अनुच्छेद 120* :- संसद में प्रयोग की जाने वाली भाषा

*अनुच्छेद 123* :- संसद विश्रांति काल में राष्ट्रपति की अध्यादेश शक्ति

*अनुच्छेद 124* :- उच्चतम न्यायालय की स्थापना और गठन

*अनुच्छेद 125* :- न्यायाधीशों का वेतन

*अनुच्छेद 126* :- कार्य कार्य मुख्य न्याय मूर्ति की नियुक्ति

*अनुच्छेद 127* :- तदर्थ न्यायमूर्तियों की नियुक्ति

*अनुच्छेद 128* :- सेवानिवृत्त न्यायाधीशों की उपस्थिति

*अनुच्छेद 129* :- उच्चतम न्यायालय का अभिलेख नयायालय होना

*अनुच्छेद 130* :- उच्चतम न्यायालय का स्थान

**

*अनुच्छेद 131* :- उच्चतम न्यायालय की आरंभिक अधिकारिता

*अनुच्छेद 137* :- निर्णय एवं आदेशों का पुनर्विलोकन

*अनुच्छेद 143* :- उच्चतम न्यायालय से परामर्श करने की

राष्ट्रपति की शक्ति

*अनुच्छेद144* :-सिविल एवं न्यायिक पदाधिकारियों द्वारा

उच्चतम न्यायालय की सहायता

*अनुच्छेद 148* :- भारत का नियंत्रक महालेखा परीक्षक

*अनुच्छेद 149* :- नियंत्रक महालेखा परीक्षक के कर्तव्य शक्तिया

*अनुच्छेद 150* :- संघ के राज्यों के लेखन का प्रारूप

*अनुच्छेद 153* :- राज्यों के राज्यपाल

*अनुच्छेद 154* :- राज्य की कार्यपालिका शक्ति

*अनुच्छेद 155* :- राज्यपाल की नियुक्ति

*अनुच्छेद 156* :- राज्यपाल की पदावधि

*अनुच्छेद 157* :- राज्यपाल नियुक्त होने की अर्हताएँ

*अनुच्छेद 158* :- राज्यपाल के पद के लिए शर्तें

*अनुच्छेद 159* :- राज्यपाल द्वारा शपथ या प्रतिज्ञान

*अनुच्छेद 163* :- राज्यपाल को सलाह देने के लिए मंत्री परिषद

*अनुच्छेद 164* :- मंत्रियों के बारे में अन्य उपबंध

*अनुच्छेद 165* :- राज्य का महाधिवक्ता

*अनुच्छेद 166* :- राज्य सरकार का संचालन

*अनुच्छेद 167* :- राज्यपाल को जानकारी देने के संबंध में मुख्यमंत्री के कर्तव्य

*अनुच्छेद 168* :- राज्य के विधान मंडल का गठन

*अनुच्छेद 170* :- विधानसभाओं की संरचना

*अनुच्छेद 171* :- विधान परिषद की संरचना

*अनुच्छेद 172* :- राज्यों के विधानमंडल कि अवधी

*अनुच्छेद 176* :- राज्यपाल का विशेष अभिभाषण

*अनुच्छेद 177* सदनों के बारे में मंत्रियों और महाधिवक्ता के अधिकार

*अनुच्छेद 178* :- विधानसभा का अध्यक्ष और उपाध्यक्ष

*अनुच्छेद 179* :- अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का पद रिक्त होना या

पद से हटाया जाना

*अनुच्छेद 180* :- अध्यक्ष के पदों के कार्य व शक्ति

**

*अनुच्छेद 181* :- अध्यक्ष उपाध्यक्ष को पद से हटाने का कोई

संकल्प पारित होने पर उसका पिठासिन ना होना

*अनुच्छेद 182* :- विधान परिषद का सभापति और उपसभापति

*अनुच्छेद 183* :- सभापति और उपासभापति का पद रिक्त होना

पद त्याग या पद से हटाया जाना

*अनुच्छेद 184* :- सभापति के पद के कर्तव्यों का पालन व शक्ति

*अनुच्छेद 185* :- संभापति उपसभापति को पद से हटाए जाने का

संकल्प विचाराधीन होने पर उसका पीठासीन ना होना

*अनुच्छेद 186* :- अध्यक्ष उपाध्यक्ष सभापति और उपसभापति

के वेतन और भत्ते

*अनुच्छेद 187* :- राज्य के विधान मंडल का सविचाल.

*अनुच्छेद 188* :- सदस्यों द्वारा शपथ या प्रतिज्ञान

*अनुच्छेद 189* :- सदनों में मतदान रिक्तियां होते हुए भी साधनों का कार्य करने की शक्ति और गणपूर्ति

*अनुच्छेद 199* :- धन विदेश की परिभाषा

*अनुच्छेद 200* :- विधायकों पर अनुमति

*अनुच्छेद 202* :- वार्षिक वित्तीय विवरण

*अनुच्छेद 213* :- विध

ानमंडल में अध्यादेश सत्यापित करने के

राज्यपाल की शक्ति

*अनुच्छेद 214* :- राज्यों के लिए उच्च न्यायालय

*अनुच्छेद 215* :- उच्च न्यायालयों का अभिलेख न्यायालय होना

*अनुच्छेद 216* :- उच्च न्यायालय का गठन

*अनुच्छेद 217* :- उच्च न्यायालय न्यायाधीश की नियुक्ति

पद्धति शर्तें

*अनुच्छेद 221* :- न्यायाधीशों का वेतन

**

*अनुच्छेद 222* :- एक न्यायालय से दूसरे न्यायालय में

न्यायाधीशों का अंतरण

*अनुच्छेद 223* :- कार्यकारी मुख्य न्याय मूर्ति के नियुक्ति

*अनुच्छेद 224* :- अन्य न्यायाधीशों की नियुक्ति

*अनुच्छेद 226* :- कुछ रिट निकालने के लिए उच्च न्यायालय की शक्ति

*अनुच्छेद 231* :- दो या अधिक राज्यों के लिए एक ही उच्च न्यायालय की स्थापना

*अनुच्छेद 233* :- जिला न्यायाधीशों की नियुक्ति

*अनुच्छेद 241* :- संघ राज्य क्षेत्र के लिए उच्च-न्यायालय

**

*अनुच्छेद 243* :- पंचायत नगर पालिकाएं एवं सहकारी समितियां

*अनुच्छेद 244* :- अनुसूचित क्षेत्रो व जनजाति क्षेत्रों का प्रशासन

*अनुच्छेद 248* :- अवशिष्ट विधाई शक्तियां

*अनुच्छेद 252* :- दो या अधिक राज्य के लिए सहमति से विधि बनाने की संसद की शक्ति

*अनुच्छेद 254* :- संसद द्वारा बनाई गई विधियों और राज्यों के विधान मंडल द्वारा बनाए गए विधियों में असंगति

*अनुच्छेद 256* :- राज्यों की और संघ की बाध्यता

*अनुच्छेद 257* :- कुछ दशाओं में राज्यों पर संघ का नियंत्रण

*अनुच्छेद 262* :- अंतर्राज्यक नदियों या नदी दूनों के जल संबंधी

विवादों का न्याय निर्णय

*अनुच्छेद 263* :- अंतर्राज्यीय विकास परिषद का गठन

*अनुच्छेद 266* :- संचित निधी

*अनुच्छेद 267* :- आकस्मिकता निधि

*अनुच्छेद 269* :- संघ द्वारा उद्ग्रहित और संग्रहित किंतु राज्यों

को सौपे जाने वाले कर

*अनुच्छेद 270* :- संघ द्वारा इकट्ठे किए कर संघ और राज्यों के

बीच वितरित किए जाने वाले कर

*अनुच्छेद 280* :- वित्त आयोग

*अनुच्छेद 281* :- वित्त आयोग की सिफारिशे

*अनुच्छेद 292* :- भारत सरकार द्वारा उधार लेना

*अनुच्छेद 293* :- राज्य द्वारा उधार लेना

&अनुच्छेद 300 क* :- संपत्ति का अधिकार

*अनुच्छेद 301* :- व्यापार वाणिज्य और समागम की स्वतंत्रता

*अनुच्छेद 309* :- राज्य की सेवा करने वाले व्यक्तियों की भर्ती और सेवा की शर्तों

*अनुच्छेद 310* :- संघ या राज्य की सेवा करने वाले व्यक्तियों की पदावधि

*अनुच्छेद 313* :- संक्रमण कालीन उपबंध

*अनुच्छेद 315* :- संघ राज्य के लिए लोक सेवा आयोग

*अनुच्छेद 316* :- सदस्यों की नियुक्ति एवं पदावधि

*अनुच्छेद 317* :- लोक सेवा आयोग के किसी सदस्य को हटाया

जाना या निलंबित किया जाना

*अनुच्छेद 320* :- लोकसेवा आयोग के कृत्य

*अनुच्छेद 323 क* :- प्रशासनिक अधिकरण

*अनुच्छेद 323 ख* :- अन्य विषयों के लिए अधिकरण

*अनुच्छेद 324* :- निर्वाचनो के अधिक्षण निर्देशन और नियंत्रण का निर्वाचन आयोग में निहित होना

*अनुच्छेद 329* :- निर्वाचन संबंधी मामलों में न्यायालय के

हस्तक्षेप का वर्णन

*अनुछेद 330* :- लोक सभा में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लिये स्थानो का आरणण

*अनुच्छेद 331* :- लोक सभा में आंग्ल भारतीय समुदाय का

प्रतिनिधित्व

*अनुच्छेद 332* :- राज्य के विधान सभा में अनुसूचित जाति और

अनुसूचित जनजातियों के लिए स्थानों का आरक्षण

*अनुच्छेद 333* :- राज्य की विधानसभा में आंग्ल भारतीय

समुदाय का प्रतिनिधित्व

*अनुच्छेद 343* :- संघ की परिभाषा

*अनुच्छेद 344* :- राजभाषा के संबंध में आयोग और संसद की समिति

*अनुच्छेद 350 क* :- प्राथमिक स्तर पर मातृभाषा में शिक्षा की

सुविधाएं

*अनुच्छेद 351* :- हिंदी भाषा के विकास के लिए निर्देश

*अनुच्छेद 352* :- आपात की उदघोषणा का प्रभाव

*अनुछेद 356* :- राज्य में संवैधानिक तंत्र के विफल हो जाने की

दशा में उपबंध

*अनुच्छेद 360* :- वित्तीय आपात के बारे में उपबंध

*अनुच्छेद 368* :- सविधान का संशोधन करने की संसद की

शक्ति और उसकी प्रक्रिया

*अनुच्छेद 377* :- भारत के नियंत्रक महालेखा परीक्षक के बारे में

*उपबंध*

*अनुच्छेद 378* :- लोक सेवा आयोग के बारे में